Category 1

Recent

Tuesday, October 20, 2020

 



रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे

lehsun khane ke fayde

नमस्कार दोस्तों

शीर्षक (title) को पढ़कर आप समझ ही गये होंगे की आज हम लहसुन के फायदे के बारे में बात करने वाले है| लहसुन का भारत की हर घर की रसोई में उपयोग किया जाता है| शायद ही ऐसा कोई होगा जिसके किचन में लहसुन का यूज़ नही किया जाता हो|

रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे

लहसुन का उपयोग अक्सर किचन में मसाले की तौर पर खाने का टेस्ट बढ़ाने के लिए किया जाता है| लेकिन टेस्ट के अलावा इसके कई और भी फायदे है|

किस तरह कर सकते है लहसुन का उपयोग

आमतौर पर लहसुन का उपयोग सब्जी बनाने में किया जाता है| लेकिन इसका उपयोग चटनी, और इसका आचार भी बना सकते है|

तो आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे कि लहसुन से हमारे शरीर को क्या क्या फायदे मिलते है| 

लहसुन खाने के फायदे 

लहसुन खाने से हमारे शरीर को कई प्रकार के फायदे मिलते है, जो इस प्रकार है|

लहसुन को खाने से टेस्टोस्टेरोन बढ़ता है

यदि आपके शरीर में testosterone होर्मोन की कमी है और आप शारीरिक कमजोरी से परेशान है तो आप भी लहसुन खा सकते है| लहसुन खाने से आपके  शरीर में टेस्टोंस्टेरोन होर्मोन के लेवल बढ़ सकते है| और एनर्जी लेवल भी बढ़ सकते है|

लहसुन हार्ट के लिए है फायदेमंद

लहसुन हमारे दिल (हार्ट) के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है| यह रक्त की धमनियों में जमे कोलेस्ट्रोल को कम करता है जिससे हार्ट की समस्या होने की संभावना कम  होती है|

रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे


ऐसा माना जाता है रोज लहसुन खाने वाले व्यक्ति को हार्ट अटैक नही आता है|

कोलेस्ट्रोल कम करने में मदद करता है

शरीर में बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रोल आपकी रक्त की धमनियों जम जाता है और धमनियों को ब्लाक कर सकता है | जिससे दिल तक सही से ब्लड नही पहुँच पाता है| ऐसा माना जाता है की लहसुन खाने से कोलेस्ट्रोल को कम किया जा सकता है| जिससे हार्ट अटैक आने के खतरे को कम किया जा सकता है|

ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करने में मदद करता है

लहसुन खाने से ब्लड प्रेशर की कण्ट्रोल में आ जाता है| जब कोलेस्ट्रोल कम हो जाता है तो शरीर में धमनियों में से खून का प्रवाह सही से होता है और धमनियों पर पड़ने वाला दबाव कम हो सकता है| इस प्रकार लहसुन खाने के कारण ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल होने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने का खतरा भी कम होता है

 लहसुन फैट को कम करने में मददगार

ऐसा माना जाता है की लहसुन खाने से हमारे शरीर का मेटाबोलिक रेट बढ़ जाता है| और जब मेटाबोलिक रेट बढ़ता है तो बॉडी में फैट बर्न भी बढ़ जाता है|

लहसुन एंटी बेक्टीरियल होता है

रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे


लहसुन में एंटी बेक्टीरियल और एंटी फ्लेमेट्री गुण पाते जाते है| जिससे यह कई सारे बेक्टरिया के अटैक से बचाते है क्योकि लहसुन खाने से हमारी रोग प्रतिरोधक शमता बढती है

लहसुन फ्री रेडिकल से बचाता है

फ्री रेडिकल से बचाते है क्योकि में पाये जाते है लहसुन में बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट जो हमारी बॉडी को स्ट्रेस से होने वाले फ्री रेडिकल अटैक से बचाते है| और शरीर की एजिंग

प्रोसेस को भी स्लो करते है|

इम्युनिटी बढती है

लहसुन इम्युनिटी बढ़ाने के लिए लाभकारक है क्योकि इसमें एंटी बेक्टेरिअल गुण पाये है तो लहसुन खाने से हमारी इम्युनिटी भी बढती है|

 तो इस प्रकार लहसुन के कई प्रकार के फायदे है| लहसुन को आयुर्वेद में औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता है

हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|

अस्वीकरण – यह लेख और आर्टिकल केवल सामान्य जानकारी के लिए लिखा गया है| यह किसी भी प्रकार की दवा या इलाज का विकल्प नही है और न ही हो सकता है| ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर या किसी स्पेस्लिस्ट  से सलाह ले| लेखक, इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नही लेता है|

धन्यवाद

 

 

रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे

  रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे lehsun khane ke fayde नमस्कार दोस्तों शीर्षक (title) को पढ़कर आप समझ ही गये होंगे की आज हम...

Friday, October 16, 2020

 

हल्दी के फायदे | कैसे करे उपयोग | haldi ke fayde | kaise kare upyog

नमस्कार दोस्तों

भारत में मसालों की विविधता की कमी नही है| भारत में मसाले भरपूर मात्रा में पाये जाते है और उनका उपयोग भी ज्यादा किया जाता है, जिसमे से एक हल्दी है| 

हल्दी का उपयोग किस के घर और किचन में नही होता होगा| हल्दी का उपयोग हर किसी के घर और किचन में उपयोग होता ही है| क्या आपको पता है कि हल्दी के कितने सारे फायदे है| और हल्दी का उपयोग कई प्रकार से कर सकते है|

haldi ke fayde


तो आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे की हल्दी के क्या और कितने सारे फायदे है और इसका उपयोग किस तरह करते है|

यह भी पढ़े - बेक को मज़बूत करे इन एक्सरसाइज के 

किस तरह हल्दी का उपयोग करते है|

बाज़ार में हल्दी दो रूप में मिलती है एक तो पाउडर के रूप में और दूसरी कच्ची हल्दी (सर्दियों में) के रूप में |

·        आमतौर पर किचन में हल्दी का उपयोग सब्जी में मसाले के रूप में किया जाता है

·        हल्दी का उपयोग दूध में डालकर भी किया जाता है| (रात  को हल्दी वाला दूध पिया जाता है)

·        हल्दी का उपयोग सुबह गर्म पानी के साथ में किया है( लोग सुबह हल्दी वाला गर्म पानी पीते है)

·        हल्दी की सब्जी के रूप में (सर्दियों में अक्सर कच्ची हल्दी की सब्जी बनाकर खायी जाती है|)

हमने यह तो समझ लिया की हल्दी का उपयोग किस प्रकार किया जाता है| अब बात करते है कि हल्दी के क्या फायदे है|

हल्दी खाने के फायदे

हल्दी खाने के बहुत सारे फायदे है जो इस प्रकार है|

पेट में होने वाली जलन को कम करती है

हल्दी पेट की समस्या के लिए बहुत ही गुणकारी है| हल्दी गैस्ट्रिक जूस की म्यूकिन सामग्री को बढ़ाने और पेट में जलन को कम करने में भी मदद करती है।

हल्दी सर्दी खांसी में भी फायदेमंद

हल्दी का उपयोग अक्सर गले में खराश, खांसी, सर्दी और पेट फूलने के खिलाफ भी किया जाता है। इस सभी में भी हल्दी बहुत फायदेमंद है| हल्‍दी में लिपोपोलीसैचिरिड होता है जो  हमारे इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत करता है जिससे फ्लू एवं सर्दी-जुकाम होने का  खतरा कम हो जाता है|

haldi ke fayde


हल्दी में एंटी कैंसर वाले गुण होते है|

पोषण संस्थान के राष्ट्रीय संस्थान (नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ न्यूट्रीशन india ) में किए गए अध्ययन से पता चलता है कि हल्दी एक शक्तिशाली एंटीकैंसर एजेंट हो सकती है|

यह भी पढ़े - ऐसे करे वजन कम 

हल्दी एंटी बेक्टिरियल होती है

हल्दी एंटी बेक्टिरियल होती है, यह  हमारे शरीर को बेक्टीरिया से बचाती है|

हल्दी में मौजूद करक्यूमिन का सक्रिय सिद्धांत बैक्टीरिया पर कार्रवाई और कवक के विकास को गिरफ्तार करने के लिए भी जाना जाता है|

हल्दी कोलेस्ट्रोल को कम करती है

एक स्टडी के अनुसार हल्दी और curcumin से कोलेस्ट्रोल भी कम होता है | हल्दी और curcumin कार्डियोवस्‍कुलर डिजीज और स्‍ट्रोक का कारण बनने वाले  बुरे कोलेस्‍ट्रोल के लेवल को भी कम करता है।

 हल्दी अल्झाइमर बीमारी  में असरदार होती है

2006 में की गयी एक स्टडी के अनुसार यह पाया गया है की हल्दी अल्झाइमर बीमारी से लड़ने के लिए एक असरदार हथियार साबित हो सकता है| अल्झाइमर बीमारी उम्र बढ़ने के साथ होने वाली बीमारी है जिसमे इन्सान समय के साथ भूलने लगता है|

आर्थराइटिस  में मददगार

हल्‍दी के एंटी बैक्‍टीरिया-रोधी गुण के कारण  से चोट को जल्‍दी भरने में मदद मिलती है।  साथ ही हल्दी एंटी इन्फ्लामेंट्री के गुण होते है जिससे शरीर में सुजन आने की सम्भावना कम होती है| एवं सूजन को जोड़ों के सेल्स को नुकसान पहुंचाने से रोकती है जिससे जोड़ों में दर्द और आर्थराइटिस जैसी समस्‍याओं से बचाव या राहत मिलती है|

इसके अलावा भी हल्दी के कई सारे फायदे है|

haldi ke fayde


हल्दी काफी अच्छे गुणों से भरपूर है परंतु कुछ लोगों पर इसके उल्टे प्रभाव पड़ सकते हैं।  इसलिए जिन लोगों को हल्दी से एलर्जी होती है उन्हें पेट में दर्द या डायरिया जैसे लक्षण सामने आ सकते हैं। गर्भवती महिलाओं को कच्ची हल्दी के उपयोग से पहले चिकित्सकीय परामर्श या सलाह ले लेनी चाहिए। जिन लोगो को हल्दी खाने से प्रॉब्लम होती वे या तो हल्दी का सेवन कम करे या सेवन करने से बचे|

अस्वीकरण – यह लेख और आर्टिकल केवल सामान्य जानकारी के लिए लिखा गया है| यह किसी भी प्रकार की दवा या इलाज का विकल्प नही है और न ही हो सकता है| ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर या किसी स्पेस्लिस्ट  से सलाह ले| लेखक, इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नही लेता है|

हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|

धन्यवाद

स्ट्रेचिंग के फायदे 

इम्पोर्टेंस ऑफ वाटर 


हल्दी के फायदे | कैसे करे उपयोग | haldi ke fayde | kaise kare upyog

  हल्दी के फायदे | कैसे करे उपयोग | haldi ke fayde | kaise kare upyog नमस्कार दोस्तों भारत में मसालों की विविधता की कमी नही है| भारत में...

Tuesday, October 13, 2020

 मज़बूत और हैवी लेग्ज के टॉप और बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज / Best 5 exercise for legs

(legs ko mazboot or sundur banaye in exercise se)

नमस्कार दोस्तों 

ज़िम जाने वाला हर व्यक्ति अपनी अपर बॉडी को तो टोन कर देता है लेकिन लोअर बॉडी को टोन और ट्रेन नही करता है, अगर करते भी है तो कम ट्रेन करता है| जिसके कारण बॉडी अच्छी नही दिखती है| अक्सर लोग यह गलती करते है|

लेग्ज के मसल्स शरीर के बड़े मसल्स होते है और बॉडी का बेस होते है, इन पर ही हमारी अपर बॉडी भी  टिकी हुई होती है, इसलिए लोअर बॉडी के मसल्स को ट्रेन करना जरुरी हो जाता है|

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज


तो आज में आपको बताने वाला हूँ, ऐसी टॉप और बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज के बारे में जिसको करके आ अपने लेग्ज को काफी मज़बूत बना सकते है

लेकिन सबसे पहले यह जान लेते है कि लेग्स में कौनसे मसल्स होते है उनके क्या नाम है?

लेग्ज के मसल्स

लेग्ज और लोअर बॉडी के मुख्य तीन सबसे बड़े मसल्स होते है

क्वाड्रिसेप्स (quadriceps)

इस  मसल्स ग्रुप में चार मसल्स होते है और जांध के सामने के ये चारो मसल्स पैर को सीधा करने ( knee extension) का काम करते है|

हेमस्ट्रिंग्स (hamstrings)

हेमस्ट्रिंग्स में भी चार मसल्स आते है और यह जांध के पिछली side में होते है यह हिपबॉन से शुरू होते है और टिबिया बॉन में जाकर जुड़ते है| इनका काम घुटने को मोड़ना और हिप को एक्सटेंड करना होता है|

काफ मसल्स

यह पैर के पिछले हिस्से में घुटने और एंकल के बीच में होता है| इसका मुख्य काम एन्क्ल में मूवमेंट करना है|

यह भी पढ़े - फैट बर्निंग वर्कआउट

बेस्ट 5 एक्सरसाइज लेग्ज के लिए

बारबेल स्क्वाट

लेग्ज को बेहतर और मज़बूत करने के इए बारबेल स्क्वाट बहुत ही बढ़िया विकल्प है| अच्छा लेग्ज का वर्कआउट बारबेल स्क्वाट से ही शुरू होता है| बहुत से लोग इसको बिना वेट्स के ही करते है लेकिन इसे वेट्स के साथ करने से और अच्छे रिजल्ट मिलते है

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज


कैसे करें :

इसके लिए आप अपने पैरों को एक साथ रखें और अपनी एड़ी को 25-पाउंड की प्लेटों पर रखें। इससे क्वाड्स के बाहरी स्वीप पर अधिक फोकस कर सकते हैं, जिससे आपको सही पोजिशन में आने में मदद मिलती है।  

यदि आप बार्बेल के साथ पहली बार ये एक्सरसाइज कर रहे हैं तो  पहले आप थोडा  वार्म-अप जरुर करें। पैर मसल्स को गर्म करने और ब्लड फ्लो को बढ़ाने  के लिए पहले सेट में हल्के वजन और हाई रेप्स करें। 

फिर आगे के वर्कआउट के लिए पीठ पर फोटो में दिखाए मुताबिक बार्बेल रखते हैं और फिर स्क्वॉट लगाते हैं। ध्यान रखें कि धीरे-धीरे अपनी क्षमता के मुताबिक वेट बढ़ाएं।

स्क्वाट बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है | इसके बहुत सारे वेरिएशन भी है जैसे -   फ्रंट स्क्वाट, ओवरहेड स्क्वाट, सी सी स्क्वाट, हैक स्क्वाट, पिस्टल स्क्वाट, सूमो स्क्वाट, आदि| इस सभी  एक्सरसाइज में हमारे थाईज  के क्वाड्रिसेप्स मसल्स और ग्लुट्स (हिप) के मसल्स काम करते है|

लन्जेस

यह लेग्स के मसल्स  की स्ट्रेंथ बढ़ने के लिए और वजन कम करने के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज है| इसको सिंगल लेग स्क्वाट भी कहते है| इस एक्सरसाइज में हमारे लेग्स (थाईज ) और ग्लुट्स (हिप) के मसल्स काम करते है| 

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज


इसको भी आप बिना वेट्स और वेट्स के साथ कर सकते है, लेकिन वेट्स के साथ करने से अच्छे रिजल्ट मिलते है| अगर आप नए या बिगिनर है तो पहले बिना वेट्स के ही करे| इसमें इसमें आप डम्बल और बारबेल किसी का भी उपयोग कर सकते है|

कैसे करे

इस एक्सरसाइज को करने के लिय्व अपने हाथ में डम्बल या प्लेट्स को पकड़ कर सीधे खड़े हो जाये फिर अपने बांये पैर को एक कदम आगे लाकर आगे वाले पैर पर बैठ जाये (ध्यान रहे इसके दौरान आपकी पीठ सीधी रहे)  फिर ऊपर उठते हुए वापिस सीधे खड़े हो जाये| फिर  ऐसे ही दांये पैर से दोहराए|

इस एक्सरसाइज के कई सारे वेरिएशन भी है जैसे वाकिंग लन्जेस, फारवर्ड लन्जेस, रिवर्स लन्जेस, प्लायोमेट्रिक लन्जेस आदि|

आप चाहे तो वाकिंग लन्जेस भी कर सकते है, बस पैर को उतना ही आगे बढ़ाये और उसको उतना ही बेंड कारे की आपका पीछे वाला पैर का घुटना नीचे फ्लोर को टच हो सके|

लेग प्रेस

यह भी एक अच्छी एक्सरसाइज है लेग्स को मजबूत करने के लिए | यह भी क्वाड्रिसेप्स को ट्रेन करने के लिए है| इसको मशीन पर किया जाता  है|

कैसे करे

इस एक्सरसाइज को करने के लिए आपको सीट पर बैठना है और अपने पैरों को सामने लगे पैड (pad) पर रखना है  (पैरों को न ज्यादा पास रखें और न ज्यादा दूर) फिर उस प्लेट लोडेड पैड (pad) को अनलॉक करके ऊपर की तरफ धकेले|

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज


बस ध्यान रखें की इस एक्सरसाइज में ज्यादा वजन न ले अपनी क्षमता के मुताबिक ही वजन ले| अगर आप ज्यादा वजन लेते है तो जोखिम ज्यादा होती है क्योकि अगर वजन कण्ट्रोल नही हुआ तो आपके सारा ऊपर आ सकता है|

लेग कर्ल (leg – curl)

यह एक्सरसाइज हेमस्ट्रिंग्स के लिए है और इससे हेमस्ट्रिंग्स मजबूत बनती है| इस एक्सरसाइज को मशीन के द्वारा किया जाता है| इसके लिए अलग अलग प्रकार के मशीन आते है, जैसे बैठकर करने वाली और उल्टा लेटकर करने वाली मशीन |

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज

photo source - google / machine in  this is leg curl of life fitness.

कैसे करे

आजकल बैठकर लेग कर्ल करने वाली मशीन ज्यादा आती है इसलिए सीटेड लेग कर्ल को कैसे करते है इसके बारे में ही बताऊंगा

इस एक्सरसाइज को  करने के लिए भी आपको सीटेड लेग कर्ल मशीन की सीट पर बैठना है और फिर पैरों से वजन को हेमस्ट्रिंग्स या फिर अंदर की तरफ की खींचना है ताकि आपके हेमस्ट्रिंग्स मसल्स पर टेंशन बने हो। 

फिर धीरे-धीरे वजन को नीचे की ओर छोड़ना है। ध्यान रहे इसमें एक दम झटके से वजन को  ना उठाएं और ना ही नीचे ले जाये रखे, वरना आपके घुटने में चोट लग सकती है।

यह भी पढ़े - स्ट्रेचिंग के फायदे 

सीटेड लेग एक्सटेंशन

यह एक्सरसाइज भी लेग के मसल्स की टोनिग के लिए अच्छी है| लेग कर्ल और इसमें कुछ  ज्यादा अंतर नही है| यह एक आइसोलेशन मूवमेंट है|

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज

photo source - google / machine in  this is leg extension of life fitness.

कैसे करें :

इसे करने के लिए मशीन की सीट पर बैठें और फिर वजन को अपने पैरों की सहायता से ऊपर तक लेकर आएं। इससे आपके क्वाड्रिसेप्स पर ज्यादा टेंशन क्रिएट होगी। बस ध्यान रखें, कि घुटने को पूरी तरह लॉक नही करना है, नी को हल्का सा सॉफ्ट रखे| और आपकी स्पीड स्लो होना चाहिए न कि तेज। इस एक्सरसाइज में  भी आपको वजन धीरे-धीरे अपनी क्षमता के मुताबिक बढ़ाना है।

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज

  मज़बूत और हैवी लेग्ज के टॉप और बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज / Best 5 exercise for legs (legs ko mazboot or sundur banaye in ex e rcise se ) नमस्...

Friday, October 9, 2020

 बैक की 5 इम्पोर्टेन्ट एक्सरसाइज | Best 5 exercise for back | important exercise for back 

(pith ko mazboot krne ke liye kare ye 5 exercise | back ki 5 important exercise)

नमस्कार दोस्तों

आज हम हमारी कमर (बैक) को मजबूत करने वाली एक्सरसाइज के बारे में बात करेंगे कि हमे कौन कौन सी एक्सरसाइज करनी चाहिए, जिससे हमारी बैक बहुत अच्छी और मज़बूत बनेगी। और बहुत ही ज्यादा मजबूत बनेगी।

Best 5 exercise for back


वैसे मैं यह बतादू की बैक का मजबूत होना बहुत ही लाभदायक होता है। क्योकि जब हम  वजन उठाते है तो हमारी बैक पर बहुत असर पड़ता है। अगर हमारी बैक मजबुत नहीं है तो हम वजन नहीं उठा सकते। चलो देखते है की हमे कौन कौन सी एक्सरसाइज करनी चाहिए जिससे हमारी बैक (कमर)मजबूत बने।

बेस्ट और इम्पोर्टेन्ट (important) 5 exercise for back

बेंट ओवर रो

यह एक्सरसाइज बैक के लिए है| इस एक्सरसाइज में लेट्स (लेटीसिमस डॉरसी), टेरेस मेजर, रियर डेल्ट मसल्स ट्रेन होते है| यह अन सपोर्टेड कंपाउंड मूवमेंट है इसलिए इसमें  लेट्स, टेरेस मेजर, रियर डेल्ट के साथ साथ कोर भी ट्रेन होता है|

इस एक्सरसाइज को आप बारबेल, डंबल, और  और किसी रेजिस्टेंस बैंड से भी कर सकते है|

Best 5 exercise for back


कैसे करे बेंट ओवर रो एक्सरसाइज को

बेंट ओवर रो एक्सरसाइज को करने के सबसे पहले आप अपनी हिप की चोडाई जितना पैरो के बीच में गैप रखकर खड़े हो जाये, फिर अपनी अपर बॉडी को आगे की तरफ झुका दे और जमीन के समतल लेन का प्रयास करे, घुटनों को थोडा मोड़ (बेंट) कर दे| अगर आप डंबल से करे रहे है तो डंबल को ऊपर की तरफ पुल करे और बैक के मसल्स को कॉन्ट्रैक्ट करे फिर उसको रिलैक्स करते हुए डंबल को वापिस नीचे लाये, फिर इसको दोहराते रहे दस से पंद्रह बार |

इस एक्सरसाइज को करते समय इस बात का ध्यान रखे की झुकी हुयी अवस्था में कमर bend (मुड़ी हुयी ) ना हो, कमर हमेशा सीधी होनी चाहिए|

 

डेडलिफ्ट

डेडलिफ्ट एक बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है कमर को मज़बूत करने के लिए खासकर लोअर बैक के लिए|  यह एक कंपाउंड मूवमेंट है और फंक्शनल एक्सरसाइज है| साथ ही इसमे बैक के साथ साथ आपके लेग्स और कोर के मसल्स भी मज़बूत बनते है| बैक के साथ पुरे शरीर की ताकत बढ़ाने के लिए यह बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है| इसके कई और भी फायदे है|

Best 5 exercise for back


यह भी जाने - डेड लिफ्ट के प्रकार और फायदे 

डेडलिफ्ट एक्सरसाइज में एरेक्टर स्पाइने (erector spinae), मल्टीफीड्स (multifidus), और ट्रेपीजीयस मसल्स काम करते है|

लेट पुल डाउन

जिनको पुल अप्स नही होते है उनके लिए यह बहुत ही अच्छी एक्सरसाइज है| पुल अप्स हर किसी से नही होते है इसके लिए वो लोग जिनसे पुल अप्स नही होते है, लेट पुल डाउन करके अपनी बैक को मजबूत कर सकते है| बैक की ताकत (स्ट्रेंथ) बढ़ाने के लिए और वजन कम करने लिए बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है| यह एक फंक्शनल एक्सरसाइज है|

Best 5 exercise for back


कैसे करे लेट पुल डाउन एक्सरसाइज को

इस एक्सरसाइज को लेट पुल डाउन की मशीन पर किया जाता है| इस मशीन में वेटेड प्लेट्स लगी होती है|  इस मशीन हैंडल बार हमारे सर के उपर रहता है, जिसको नीचे खीचना होता है|

चेस्ट सपोर्टेड रो

अगर आपको लगता है आपसे बेंट ओवर रो एक्सरसाइज सही से नही हो रही  है या उसमे पोस्चर गलत हो रहा है तो आप ‘चेस्ट सपोर्टेड रो’ कर सकते है| इसको बिना मुश्किल के कर सकते है| यह भी बैक को मजबूत करने के लिए बहुत ही अच्छी एक्सरसाइज है|


कैसे करे चेस्ट सपोर्टेड रो एक्सरसाइज को

चेस्ट सपोर्टेड रो’ को करने के लिए आपको सिर्फ डम्बल और एक incline बेंच की जरूरत होती है| इस एक्सरसाइज को करने के लिए इन्कलाइन बेंच पर पेट के बल लेट जाए फिर डम्बल को अपनी छाती की तरफ लाए और लेट्स के मसल्स को कॉन्ट्रैक्ट करे फिर धीरे धीरे डम्बल को नीचे ले जाये और मसल्स को रिलैक्स करे |

यह भी जाने - पानी हमारे शरीर के लिए क्यों जरुरी है 

सीटेड केबल रो

यह भी पीठ (back) को मज़बूत करने के लिए बहुत बढ़िया एक्सरसाइज है| इस एक्सरसाइज को करने से शरीर में  V शेप आता है |

Best 5 exercise for back


कैसे करे सीटेड केबल रो एक्सरसाइज को

इस एक्सरसाइज को करने के लिए खास मशीन का प्रयोग किया जाता है जिसे सीटेड केबल रो मशीन कहते है| इस मशीन में वेटेड प्लेट्स लगी होती है जिन्हें हैंडल्स की हेल्प से खीचना होता है|

हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|

धन्यवाद 
यह भी पढ़े - 
                 

Best 5 exercise for back

  बैक की 5  इम्पोर्टेन्ट  एक्सरसाइज | Best 5 exercise for back | important exercise for back  (pith ko mazboot krne ke liye kare ye 5 exer...

Tuesday, October 6, 2020


वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi /motapa kaise kam kare

वजन और मोटापा घटाने के असरदार तरीके

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करेंगे मोटापा और वजन को कम कैसे करे| दोस्तों मोटापा कम करना बहुत जरुरी है क्योकि मोटापे के कारण हमें कई सारी हेल्थ प्रॉब्लम होती है|

इस आर्टिकल में कुछ ऐसी बाते बताऊंगा जिनको फॉलो करने आर आपको वजन और मोटापा कम करने में बहुत मदद मिलेगी|

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


ज्यादातर लोग वजन कम करने की कोशिश करते है लेकिन वे सही से वजन कम करने में सफल नही होते है| अगर आप भी वजन और मोटापा कम नही कर पा रहे है तो इस आर्टिकल को पढने के बाद आपके लिए यह काम बहुत आसान हो जायेगा|

मोटापे के कारण होने वाले प्रॉब्लम

अक्सर मोटे के कारण इन्सान को कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याए (health problem)होती है जैसे – डायबिटीज, ब्लड प्रेशर,नींद की समस्या, कोलेस्ट्रोल का बढ़ना, ऑस्टियोआर्थराइटिस आदि समस्याए होती है इसलिए मोटापा और वजन कम करना जरुरी हो जाता है|

क्या करे मोटापा और वजन कम करने के लिए

वजन और मोटापा कम करने के लिए इन सभी बातो पर ध्यान देना चाहिए ये सभी काफी मदद करती है वजन कम करने के लिए|  

व्यायाम करे (एक्सरसाइज करे)

एक्सरसाइज शरीर को फिट और हेल्थी रखने के लिए बहुत ही जरुरी है| एक्सरसाइज कने से हमारे शरीर का बी एम आर बढ़ता है, एक्सरसाइज करने से शरीर की अतिरिक्त (extra) कैलोरीज बर्न होती है|मोटापे से निजात पाने के लिए आप कम से कम हफ्ते में चार दिन 45 मिनट एक्सरसाइज जरुर करे|

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


एक्सरसाइज में आप कार्डियो एक्सरसाइज और स्ट्रेंथ ट्रेनिग वाली एक्सरसाइज करे| स्ट्रेंथ ट्रेनिंग वाली एक्सरसाइज मोटापा और वजन कम करने में काफी मदद करती है| 

स्ट्रेचिंग करने के फायदे 

पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन खाए

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


प्रोटीन हमारे शरीर के लिए महत्वपूर्ण पोषक तत्व है| हमारे शरीर की ग्रोथ के लिए  प्रोटीन बहुत जरुरी है| एक्सरसाइज करने से बॉडीके मसल्स सेल्स में ट्रौमा (टूट-फूट) होता है जिससे रिकवरी के लिए हम प्रोटीन की जरूरत पड़ती है साथ ही प्रोटीन से मेटाबोलिज्म भी बढ़ता है जिससे भी हमें वजन और मोटापा कम करने में मदद मिलती है|  

यह भी पढ़े - प्रोटीन क्यों जरुरी है 

फाइबर को न भूले

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


वजन और मोटापा कम करने के लिए अपनी डाइट में फाइबर को जरुर शामिल करे| फाइबर पचाने में भारी होता है, यह आसानी से नही पचता है| फाइबर को पचाने के लिए हमारे शरीर को ज्यादा कैलोरीज खर्च (बर्न) करनी पड़ती है जिससे की हमें हेल्प मिलती है वजन कम करने है|

ओमेगा 3 फैटी एसिड के सेवन करना न भूले

जी हा ओमेगा 3 फैटी एसिड भी हेल्प करता है वजन करता है वजन करने में साथ ही ब्रेन की सही तरीके से काम करने के लिए भी ओमेगा 3 जरुरी है|

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


ओमेगा 3 फैटी एसिड हमें फिश,फ्लेक्स्सीड्स, वालनट (अखरोट), बादाम से मिलता है

पानी पीने पे दे खास ध्यान

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


चाहे आपको वजन कम करना हो या बढ़ाना या अच्छी हेल्थ चाहिए सब के लिए पानी की सही मात्रा में शर्रीर में जाना जरुरी है| पानी भी मेटाबोलिज्म बढ़ाने में मदद करता है|

हमारी बॉडी में लगभग 60से 70 % पानी होता है| शरीर को हमेशा अच्छी तरह हाइड्रेट रखे|  

पानी का शरीर में महत्व 

कार्बोहाइड्रेट्स को कम करे

अक्सर लोग कार्बोहाइड्रेट्स का ज्यादा मात्रा में सेवन करते है जिसके कारण शरीर में एक्स्ट्रा कैलोरीज चली जाती है और यह एक्स्ट्रा कैलोरीज फैट में बदल जाती है|

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


इसलिए अगर हम कार्बोहाइड्रेट्स के सेवन को कम करते है तो इससे भी हमें मोटापा कम करने में मदद मिल जाती है|   

चीनी का इस्तेमाल करना कम करे

चीनी का इस्तेमाल तो हर किसी को कम ही करना चाहिए| चीनी एक प्रकार का सफ़ेद जहर है| ज्यादा चीनी खाना तो वैसे भी सेहत के लिए नुक्सानदायक होती है इसलिए बेहतर है की चीनी का प्रयोग कम ही किया जाये|

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


अगर हम चीनी का सेवन कम करने तो चीनी से मिलने वाली कैलोरीज भी कम हो जायेगा जिससे फैट गेन नही होगा और मोटापा भी नही बढेगा|   

फ्रूट्स और हरी सब्जियों पर दे खास ध्यान

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


मोटापा और वजन करने वालो को को फ्रूट्स और हरी पत्तेदार सब्जियों को डाइट में शामिल करने पर ध्यान देना चाहिए|

फ्रूट्स और हरी सब्जिया विटामिन्स और मिनरल्स के काफी स्त्रोत होते है और साथ ही इनमे अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स होते है जो हमें फ्री रेडिकल अटैक से भी बचाते है|

पर्याप्त नींद ले

रात को पर्याप्त नींद लेना मोटापा और वजन कम करने में काफी एहम भूमिका निभाता है| नींद के दौरान हमारी बॉडी एन्बोलिज्म में जाती है और रात में ग्रोथ होर्मोन भी बनते है जो कि वजन कम करने का बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है|

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi


ऊपर दिए गए सभी टिप्स बहुत मायने रखती है अगर आपको वजन और मोटापा कम करना हो तो इन सभी का ध्यान रखकर वजन कम करने का प्रयास किया जाये तो वजन और मोटापा कम करना मुश्किल नही है|

यह भी पढ़े - रात को नींद क्यों नही आती 

हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|

धन्यवाद

वजन कम कैसे करे /Weight Loss Tips in Hindi

वजन कम कैसे करे / Weight Loss Tips in Hindi / motapa kaise kam kare वजन और मोटापा घटाने के असरदार तरीके नमस्कार दोस्तों आज हम बात करे...

 

BEARDOOFITNESS © 2015 - Blogger Templates Designed by Templateism.com, Plugins By MyBloggerLab.com