Friday, August 28, 2020

 

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS

(वजन कम करने के लिए बेस्ट एक्सरसाइजेज)

Best exercise vajan kam karne ke liye

नमस्कार दोस्तों, बहुत से लोगो को यह असमंज (कांफ्युजन) होता है या फिर कुछ लोगो को पता नहीं होता है, कि वजन कम करने के लिए कौनसी एक्सरसाइज करे|

इस आर्टिकल में आपको ऐसी 10 बेस्ट एक्सरसाइज बताने वाला हूँ, जिनको आप वजन कम करने के लिए कर सकते है| साथ ही साथ यह भी बताऊंगा की इन एक्सरसाइजेज में आपकी बॉडी के कौनसे मसल्स काम करते है|

यह 10 एक्सरसाइज वजन कम करने के लिए बहुत ही बढ़िया और लाभदायक है| इन 10 एक्सरसाइजेज  से आपके पुरे शरीर का वर्कआउट हो जायेगा और ये सभी एक्सरसाइज कंपाउंड मूवमेंट है|

तो चलो अब बात कर लेते है उन 10 बेस्ट एक्सरसाइजेज की, कि वे कौनसी है|  

1) स्कॉट

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS


यह बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है, वजन कम करने के लिये| यह एक पॉवर कंपाउंड मूवमेंट है| यह इसके बहुत सारे वेरिएशन है बेक स्कॉट फ्रंट स्कॉट, ओवरहेड स्कॉट, सी सी स्कॉट, हैक स्कॉट, पिस्टल स्कॉट, सूमो स्कॉट, आदि| इस एक्सरसाइज में हमारे लेग्स (थाईज ) और ग्लुट्स (हिप) के मसल्स काम करते है|

2) लन्जेस

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS

PHOTO CREDIT- PIXEL.COM

यह लेग्स के मसल्स  की स्ट्रेंथ बढ़ने के लिए  और वजन कम करने के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज है| इसको सिंगल लेग स्कॉट भी कहते है| इस एक्सरसाइज में हमारे लेग्स (थाईज ) और ग्लुट्स (हिप) के मसल्स काम करते है|

3) डेडलिफ्ट

डेडलिफ्ट एक बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज  है| यह एक पॉवर कंपाउंड मूवमेंट क्योकि इसमें आपकी अपर (upper) और लोअर(lower) body दोनों का यूज़ होता है| शरीर की ताकत बढ़ाने के लिए यह काफी अच्छी एक्सरसाइज है| इस एक्सरसाइज को करने से लेग, बैक, ट्रेपीज़ियस, ग्लुट्स और कोर (abdominal) के मसल्स काफी मजबूत (strong) बनते है|

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS


डेडलिफ्ट एक्सरसाइज में एरेक्टर स्पाइने (erector spinae), मल्टीफिड्स, ट्रेपीज़ियस, क्वाड्रीसेप्स (quadriceps), ग्लुट्स और कोर (core) के मसल्स वर्क करते है| 

यह भी पढ़े :-  बीएम्आर कैसे बढ़ाये

4) बेंट ओवर रो

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS


यह एक्सरसाइज बैक के लिए है| इस एक्सरसाइज में लेट्स (लेटीसिमस डॉरसी), टेरेस मेजर, रियर डेल्ट मसल्स ट्रेन होते है| यह अन सपोर्टेड कंपाउंड मूवमेंट है इसलिए इसमें  लेट्स, टेरेस मेजर, रियर डेल्ट के साथ साथ कोर भी ट्रेन होता है|

5) पुल अप्स

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS

PHOTO CREDIT- PIKREPO.COM

बैक की ताकत (स्ट्रेंथ) बढ़ाने के लिए और वजन कम करने लिए बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है| यह एक फंक्शनल एक्सरसाइज है|  इस एक्सरसाइज से लेट्स (लेटीसिमस डॉरसी) टेरिज मेजर और रियर डेल्ट (शोल्डर मसल्स ग्रुप का पीछे वाला मसल्स) मसल्स ट्रेन होते है (वर्क करते है)|

6) चेस्ट प्रेस

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS


इस एक्सरसाइज से हमारे चेस्ट, शोल्डर, और ट्राइसेप्स मसल्स ट्रेन होते है| चेस्ट मसल्स को ताकत बढ़ाने के यह बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है|

7) पुश अप्स  

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS


पुश अप्स के बारे में कौन नही जानता है| चेस्ट और शोल्डर की ताकत (स्ट्रेंथ) बढ़ाने के लिए बढ़िया एक्सरसाइज है| इस एक्सरसाइज से आपके चेस्ट, शोल्डर, ट्राइसेप्स, और कोर (core) के मसल्स ट्रेन होते है|

8) इनक्लाईन (incline) चेस्ट प्रेस

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS


यह exercise से अपर चेस्ट (क्लेवीक्युलर फाइबर ऑफ़ पेक्टोरालिस मेजर )  ट्रेन होता है| पेक्टोरालिस मेजर चेस्ट मसल्स ही होता है| साइंस की भाषा में इसको पेक्टोरालिस मेजर कहते है|

9) ओवरहेड प्रेस

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS


यह शोल्डर मसल्स के लिए बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है| शोल्डर की स्ट्रेंथ बढ़ाने के लिए इसको किया जाता है|

आम तौर पर इस एक्सरसाइज को खड़े होकर(स्टैंन्डिंग पोजीशन में) ही किया जाता है जिससे शोल्डर के साथ कोर के मसल्स भी ट्रेन हो सके| लेकिन जिनको  कमर दर्द की समस्या है वो इसको बैठकर कर सकते है|

यह भी पढ़े :- अच्छेकार्बोहाइड्रेट और बुरे कार्बोहाइड्रेट 

10) ट्राइसेप्स पुश डाउन

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS


यह ट्राइसेप्स की एक्सरसाइज है| और इसमें ट्राइसेप्स के साथ एंटीरियर डेल्ट (शोल्डर का आगे मसल्स) भी ट्रेन होता है|

इन सभी व्यायामों को हमेशा सही रूप और तकनीक के साथ करें ताकि आपको चोट (injury) न लगे।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो शेयर जरुर करे और नीचे कमेंट करे|

BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS

  BEST EXERCISE FOR WEIGHT LOSS ( वजन कम करने के लिए बेस्ट एक्सरसाइजेज ) Best exercise vajan kam karne ke liye नमस्कार दोस्तों, बहुत स...

Tuesday, August 25, 2020

 

WHAT IS CHOLESTEROL/कोलेस्ट्रोल क्या है 

CHOLESTROL KYA HAI

दोस्तों, इस आर्टिकल मे, मैं आपको बताने वाला हूँ, कोलेस्ट्रोल के बारे में जानकारी|

·        कोलेस्ट्रोल क्या है?

·        कोलेस्ट्रोल कितने प्रकार का होता है?

·        हमारे शरीर में इसके क्या कार्य है?

SCROLL DOWN TO READ THIS IN ENGLISH 

आपने कही न कही सुना ही होगा की कोलेस्ट्रोल हार्ट (दिल) के किये बुरा है|

इस आर्टिकल को पढने के बाद आपको यह भी मालूम पड़ जायेगा कि कौनसा कोलेस्ट्रोल बुरा है और कौनसा कोलेस्ट्रोल अच्छा है|

कोलेस्ट्रोल क्या है?

कोलेस्ट्रोल एक प्रकार का पदार्थ है जो हमारे शरीर में होता है, यह लीवर में बनता है और  यह हमें खाने से भी मिलता है| कोलेस्ट्रोल शरीर के सेल्स द्वारा भी बनाया जाता है|  कोलेस्ट्रोल भी एक प्रकार का फैट ही होता है| शरीर में कोलेस्ट्रोल लिपो प्रोटीन में मौजूद होता है| लिपोप्रोटीन फैट और फैट को सर्कुलेट करने वाले प्रोटीन के कॉम्बिनेशन होते है|

कोलेस्ट्रोल हमारे शरीर के जरुरी होता है |

CHOLESTROL KYA HAI ( कोलेस्ट्रोल क्या है )

कोलेस्ट्रोल हमें कोनसे फ़ूड से मिलता है?

कोलेस्ट्रोल हमें नॉनवेज फ़ूड  (animal based food) से मिलता है | केवल नॉन वेजिटेरियन फ़ूड में ही कोलेस्ट्रोल होता है| कोलेस्ट्रोल अंडे की जर्दी, फैट वाला दूध, लाल मांस (रेड मीट) सी फ़ूड (समुद्री भोजन) आदि से मिलता है |

वेजिटेरियन फ़ूड (प्लांट बेस्ड फ़ूड) में कोलेस्ट्रोल नही होता है जैसे – सूरजमुखी के तेल, मूंगफली के तेल, नारियल आदि में कोलेस्ट्रोल नही होता है|

यह भी पढ़े :- अच्छे कार्बोहाइड्रेट और बुरे कार्बोहाइड्रेट  

कोलेस्ट्रोल के प्रकार

लिपोप्रोटीन (जिसमे कोलेस्ट्रोल होता है) दो प्रकार के होते है|

1)  हाई-डेन्सिटी लिपोप्रोटीन (एचडीएल)

2)  लो-डेन्सिटी लिपोप्रोटीन (एलडीएल)

    हाई डेन्सिटी लिपो प्रोटीन (एचडीएल) 

इस प्रकार के लिपोप्रोटीन में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है और फैट की मात्रा कम होती है| इसमें अच्छी क्वालिटी के प्रोटीन होते है| एचडीएल एक अच्छा कोलेस्ट्रोल होता है| इसकी डेन्सिटी अधिक होती है क्योकि इसमें प्रोटीन ज्यादा (सघन) होता है| 

एचडीएल ब्लड से कोलेस्ट्रोल हटाने और कोलेस्ट्रोल आर्टरी (धमनी) में जमा फैट (कोलेस्ट्रोल) को कम करने में हेल्प करता है| यह इस्तेमाल न हुए कोलेस्ट्रोल को सेल्स से वापिस लीवर में लाने का काम करता है|

CHOLESTROL KYA HAI ( कोलेस्ट्रोल क्या है )

लो-डेन्सिटी लिपोप्रोटीन (एलडीएल) 

लो-डेन्सिटी लिपोप्रोटीन में प्रोटीन की मात्रा कम और फैट की मात्रा ज्यादा होती है| इनकी डेन्सिटी कम होती है,क्योकि इसका प्रोटीन डेंस(सघन) नही होता है| इसे बेड (बुरा) कोलेस्ट्रोल कहा जाता है क्योकि यह बहुत ही चिपचिपा होता है जिसके कारण यह आर्टरी (धमनी) की दीवारो में आसानी से चिपक जाता है और जमा हो जाता है| 

CHOLESTROL KYA HAI ( कोलेस्ट्रोल क्या है )

शरीर में लो-डेन्सिटी लिपोप्रोटीन (एलडीएल) के लेवल (स्तर) ज्यादा होने पर अथेरोस्क्लेरोसिस (आर्टरी (धमनी) को दीवारो का मोटा हो जाना) होने की संभावना होती है, जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक आने का खतरा ज्यादा होता है|

कोलेस्ट्रोल के कार्य

कोलेस्ट्रोल के ऐसे चार कार्य है जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरुरी है|

1) कोशिका (सेल) दीवार की संरचना बनाता है

हमारी बॉडी के सेल्स की दीवार कोलेस्ट्रोल से बनी होती है इसलिए कोलेस्ट्रोल हमारे शरीर के लिए जरुरी है|

2) बिले (bile) एसिड बनाता है

हमारे पाचन तंत्र को फैट डाइजेस्ट और खपाने के लिए emulsifying एजेंट बिले (bile) की जरुरुत होती है|  कोलेस्ट्रोल इस बिले एसिड को बनाने के लिए जरुरी है|

3) कुछ जरूरी होर्मोन बनाने में मदद करता है

हमारे शरीर के कुछ होर्मोन विशेषकर सेक्स होर्मोन (टेस्टोस्टेरोन,एस्ट्रोजन )और एड्रेनल ग्लैंड के होर्मोन बनाने के लिए भी कोलेस्ट्रोल मदद करता है|

4) विटामिन डी बनाने के लिए जरूरी

शरीर में विटामिन डी बनाने के लिए भी हमें कोलेस्ट्रोल की जरुरत होती है कोलेस्ट्रोल विटामिन डी बनाने में मदद करता है|

 अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो शेयर जरुर करे और नीचे कमेंट करे| 

 

 WHAT IS CHOLESTEROL

  Friends, in this article, I am going to tell you, information about cholesterol.

• What is cholesterol?

• What type of cholesterol is there?

• What is its function in our body?

You must have heard somewhere that cholesterol is bad for the heart.

After reading this article, you will also know which cholesterol is bad and which cholesterol is good.

What is cholesterol?

Cholesterol is a type of substance that is present in our body, it is made in the liver and it is also obtained by eating it. Cholesterol is also made by the body's cells. Cholesterol is a type of fat. Cholesterol is present in lipoproteins in the body. Lipoproteins are the combination of fat and proteins that circulate fat.

Cholesterol is necessary for our body

What food do we get cholesterol?

We get cholesterol from non-veg food. Only non-vegetarian food contains cholesterol. Cholesterol is found in egg yolk, fat milk, red meat, seafood, etc.

Vegetarian food does not contain cholesterol. Sunflower oil, groundnut oil, coconut, etc. do not contain cholesterol.

CHOLESTROL KYA HAI ( कोलेस्ट्रोल क्या है )


Types of cholesterol

There are two types of lipoproteins (which contain cholesterol).

1) High-density lipoprotein (HDL)

2) Low-density lipoprotein (LDL)

High-Density Lipoprotein (HDL)  

This type of lipoprotein has a high content of protein and low fat. It contains good quality protein. HDL is good cholesterol. Its density is high because it is dense in protein. 

HDL helps in removing cholesterol from the blood and reducing the cholesterol stored in the artery. This works to bring unused cholesterol back from the cells to the liver.

2) Low-density lipoprotein (LDL) 

Low-density lipoprotein has low protein and high-fat content. Their density is low because its protein is not dense. This is called bad cholesterol because it is very sticky due to which it easily clings to the walls of the artery and gets deposited.

At higher levels of low-density lipoprotein (LDL) in the body, there is a possibility of atherosclerosis (thickening of the artery walls), which increases the risk of heart attack and stroke.

Read this too:- good carbohydrates and bad carbohydrates

Cholesterol of function

There are four functions of cholesterol which are very important for our body.

1)makes Structure of cell wall

The walls of our body cells are made of cholesterol, so cholesterol is necessary for our body.

2) makes bile acid

Our digestive system needs the emulsifying agent bile to digest and absorb fat. Cholesterol is necessary to make this bad acid.

3) Helps to make some essential hormones

Cholesterol also helps to make some hormones of our body especially sex hormones (testosterone, estrogen) and adrenal gland hormones.

4) Essential for making vitamin D

We also need cholesterol to make vitamin D in the body. Cholesterol helps in making vitamin D.

 If you like this information, then do share it and comment below.

 

 

 

 

 

 

 

CHOLESTROL KYA HAI

  WHAT IS  CHOLESTEROL/ कोलेस्ट्रोल क्या है  CHOLESTROL KYA HAI दोस्तों, इस आर्टिकल मे, मैं आपको बताने वाला हूँ, कोलेस्ट्रोल के बारे मे...

Friday, August 21, 2020

 

चार मिनट का फैट बर्निंग वर्कआउट

 

चार मिनट के एक्सरसाइज रूटीन से कम करे वजन

आप सोच रहे होंगे ऐसा केसे संभव है| जी हा यह संभव है !

आज में आपको एक ऐसा वर्कआउट का टाइप बताने वाला हूँ  जिसको आप वजन कम करने ले लिए कर सकते है| मुझे पूरा विश्वास है कि इस प्रकार के वर्कआउट को करने से आपको वजन कम करने में मदद मिलेगी|

अंग्रेजी में पढ़े नीचे 

यह वर्कआउट है तबाता (tabata) वर्कआउट|

जी हा में बात कर रहा हूँ तबाता वर्कआउट की|

क्या है तबाता वर्कआउट?

तबाता वर्कआउट को डॉक्टर इजुमी तबाता ने विकसित किया था  

यह एक प्रकार का कार्डियो वर्कआउट है| यह चार मिनट का वर्कआउट होता है यह बहुत ही अधिकतम तीव्रता (हाई इंटेंसिटी) वाला वर्कआउट है|  वजन कम करने और एरोबिक कैपेसिटी बढ़ाने के लिए इसको किया जाता है|

थोडा अलग है तबाता वर्कआउट

अगर आप रोज एक जैसे ही एक्सरसाइज कर के थक गये है तो इसे ट्राई कर सकते है | स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करने वालो के लिए यह मददगार हो सकता है| यह चार मिनट के टबाटा वर्कआउट मे वर्कआउट की इटेंसिटी 70 से 75% तक होती है|

यह भी पढ़े :- एरोबिक एक्सरसाइजेज

FAT BURNING WORKOUT (four minute workout for weight loss)

कैसे करे तबाता वर्कआउट

चार मिनट के तबाता वर्कआउट में किसी 8 एक्सरसाइजेज  को 20 सेकंड तक किया जाता है | और हर एक्सरसाइजेज के बीच में 10 सेकंड का रेस्ट होता है| इस में आप कोई भी हाई intensity वाली 8 एक्सरसाइजेज ले सकते है जैसे स्कॉट, जम्पिंग जैक, स्किपिंग. बर्पीज, पुश अप्स आदि| आप चाहे तो 4 एक्सरसाइज भी ले सकते है और उन्हें दोहरा सकते है| लेकिन में 8 एक्सरसाइज का ही सुझाव दूंगा| इससे आपको बोरियत महसूस नही होगी|

तबाता वर्कआउट का उदहारण

तबाता वर्कआउट में आप इन आठ एक्सरसाइजेज को शामिल कर सकते है या फिर यह रूटीन भी फॉलो कर सकते है|

20 सेकंड स्कॉट (squat)

20 सेकंड पुश अप्स  (push-ups)

20 सेकंड बर्पीज (burpees)

20 सेकंड क्र्न्चेस (crunches)

20 सेकंड लंजेस (lunges)

20 सेकंड प्लेंक जैक (plank jack)

20 सेकंड माउंटेन क्लिम्बेर्स (mountain climbers)

20 सेकंड साइड प्लेंक (side plank)

हर एक्सरसाइज के बीच में 10 सेकंड का रेस्ट लेना है|

इस तरह आप तबाता को कर सकते है|

कोई भी एक्सरसाइज करने से पहले वार्मअप और वर्कआउट के अंत में स्ट्रेचिंग जरुर कर ले|

इससे आपको चोट लगने का खतरा कम होता है|

यह भी पढ़े :- एनेरोबिक एक्सरसाइजेज

तबाता वर्कआउट के फायदे

·        मेटाबोलिज्म को बूस्ट करने में मदद मिलती है

·        इसको आप अपने घर पर  भी कर सकते है|

·        कम समय में पूरी बॉडी का वर्कआउट हो जाता है|

 तबाता वर्कआउट करते समय रखे ध्यान

अगर आप बिगिनर है तो यह वर्कआउट आपके लिए नही है| यह उनके लिए है जो स्ट्रेंथ ट्रेनिंग काफी समय से करते आ रहे है| अगर आप एक राउंड  से अधिक बार तबाता वर्कआउट कर रहे है तो हर एक राउंड के बाद कम से कम एक मिनट का ब्रेक ले ताकि आपके मसल्स को आराम (रेस्ट) मिले और अगले राउंड के इए वापिस तैयार हो जाये| इसके साथ ही बीच बीच में रेस्ट लेने से इंजरी का खतरा भी कम होता है|

यहाँ पर एक और बात का ध्यान रखे की तबाता वर्कआउट के लिए आप जिन एक्सरसाइज को चुनते है, उनको आप काफी समय से कर रहे हो, इससे गलती होने की सम्भावना कम होती है| 

हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|  

 

FOUR MINUTE FAT BURNING WORKOUT

 

Reduce weight with a four-minute exercise routine

You must be thinking of how this is possible. Yes it is possible

Today I am going to tell you the type of a workout that you can do to lose weight. I am sure that doing these types of workouts will help you lose weight.

This workout is a Tabata workout.

Yes, I am talking about Tabata Workout.

What is Tabata Workout?

Tabata Workout was developed by Dr. Izumi Tabata

This is a type of cardio workout. This is a four-minute workout. It is a very high-intensity workout. This is done to reduce weight and increase aerobic capacity.

Read this too:-  aerobic exercises

Tabata Workout is a little different

If you are tired of doing the same exercise every day, then you can try it. This can be helpful for those who do strength training. Workout intensity varies from 70 to 75% in a four-minute Tabata workout.

FAT BURNING WORKOUT (four minute workout for weight loss)

How to do Tabata workout

In a four-minute Tabata workout, 8 exercises are done for 20 seconds and between each exercise there is a 10-second rest. In this, you can take any 8 exercises like squat, jumping jack, skipping, burpees, push-ups etc. If you want, you can also take 4 exercises and repeat them. But I would suggest only 8 exercises. This will not make you feel bored.

Example of Tabata Workout

You can include these eight exercises in Tabata Workout or you can also follow this routine.

20 seconds squat

20second push-ups

20 second burpees

20 second crunches

20 seconds lunges

20 second plank jack

20 second mountain climbers

20 second side plank

Take 10 seconds rest between each exercise.

In this way, you can do the Tabata.

Before doing any exercise do the warm-up and do the stretching at the end of the workout.

This reduces your risk of injury.

Read this too:-  anaerobic exercises

Benefits of Tabata Workout

• Helps to boost metabolism

• You can also do this at your home.

• Workout of the entire body is done in a short time.

 Be careful  while doing Tabata workouts

If you are a beginner then this workout is not for you. This is for those who have been doing strength training for a long time. If you are doing more than one round of workouts, then take a break of at least one minute after each round so that your muscles get rest and get ready for the next round. Along with this, the risk of injury is also reduced by taking rest in between.

Here, one more thing to keep in mind is that the exercises you choose for Tabata workouts, you have been doing them for a long time, it reduces the chances of making a mistake.

Subscribe for more information related to health and fitness. If you like this information, then share it and reach out to others as well.

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

FAT BURNING WORKOUT

  चार मिनट का फैट बर्निंग वर्कआउट   चार मिनट के एक्सरसाइज रूटीन से कम करे वजन आप सोच रहे होंगे ऐसा केसे संभव है| जी हा यह संभव है ! ...

Tuesday, August 18, 2020

 

MICRONUTRIENT (माइक्रोपोषक तत्व)

( माइक्रोपोषक तत्व क्या होते है? )

पिछले आर्टिकल में  मैंने आपको मैंने मैक्रोपोषक तत्व के बारे में बताया था और इस आर्टिकल में आपको माइक्रोपोषक तत्व के बारे में बताऊंगा|

अंग्रेजी में पढ़े नीचे 

इस आर्टिकल में आपको बताऊंगा की माइक्रोपोषक तत्व क्या होते है, कितने प्रकार के होते है, और ये हमारे शरीर में क्या काम करते है|

माइक्रो पोषक तत्व- माइक्रो पोषक तत्व वे पोषक तत्व होते है जो हमें एनर्जी नही देते है, और जिन्हें हमें कम मात्रा (10 ग्राम से कम) में लेने की जरुरत होती है| हमें इनको  मिलीग्राम और माइक्रोग्राम में लेने जरुरत होती है|  ये हमें एनर्जी नही देते है लेकिन ये हमारे शरीर के लिए बहुत जरुरी होते है क्योकि इनके बिना मैक्रो पोषक तत्व (कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फैट) सही से काम नहीं कर पाते है| यह भी हमें फ़ूड से मिलते है और ये सप्लीमेंट के रूप में भी मिलते है| जितना हो सके उतना हमें इन्हें फ़ूड से लेना चाहिए |

माइक्रोपोषक तत्व कितने होते है?

माइक्रोपोषक तत्व दो होते है

1) विटामिन्स  

2) मिनरल्स

यह भी पढ़े :- एक्सरसाइज से पहले क्या खाए

ये सभी प्रकार के फ़ूड से हमें मिलते है लेकिन ये फल और सब्जी में यह ज्यादा होते है|

विटामिन और उसके प्रकार

विटामिन दो प्रकार के होते है

1) पानी में घुलने वाले

2) फैट में घुलने वाले

पानी में घुलने वाले विटामिन  इस प्रकार के विटामिन पानी में घुलनशील होते है| विटामिन सी और विटामिन बी-काम्प्लेक्स पानी में घुलनशील विटामिन्स है|

यह शरीर में जमा (स्टोर) नही होते है क्योकि ये मूत्र के साथ शरीर से बाहर निकल जाते है  | अगर इनको रोज नही लिए जाये तो शरीर में इनकी कमी (डेफिशियेंसी) हो सकती है, इसलिए हमें इनको रोज की डाइट से लेना ही पड़ता है|

MICRONUTRIENT (माइक्रोपोषक तत्व)

 फैट में घुलने वाले विटामिन - इस प्रकार के विटामिन फैट में घुलनशील होते है |

विटामिन ए , विटामिन डी, विटामिन ई, विटामिन के(k) फैट में घुलनशील विटामिन्स है | यह शरीर में जमा (स्टोर) हो सकते है, इसलिए अगर इन्हें हम कभी-कभार डाइट में नही लेते है तो शरीर में इनकी कमी (डेफिशियेंसी) होने का खतरा नही होता है, लेकिन लम्बे समय तक डाइट में इन्हें नही लेंगे,तो इनकी कमी (डेफिशियेंसी) हो सकती है |

इनको अगर ज्यादा मात्रा में लिया जाये तो इनसे टॉक्सिक बनने का खतरा होता है | इसलिए इनको हमेशा सही मात्रा में ही ले|

मिनरल और उसके प्रकार    

मिनरल को दो प्रकारो में बांटा  गया है

मेजर मिनरल व ट्रेस मिनरल

मेजर मिनरल – शरीर को इन मीनरलो की ज्यादा मात्रा (ग्राम) में आवश्यक होती है लेकिन 10 ग्राम से कम| कैल्शियम , क्लोराइड, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम और सोडियम मेजर मिनरल है|

ट्रेस मिनरल – शरीर को इनकी कम मात्रा (मिलीग्राम और माइक्रोग्राम) में आवश्यक होती है| आयरन, जिंक, सेलेनियम, क्रोमियम, आयोडीन, फ्लोराइड, कॉपर आदि ट्रेस मिनरल है|

एक्सरसाइज से बाद क्या खाए

विटामिन और मिनरल के कार्य

·        एंटीऑक्सीडेंट

जब हम एक्सरसाइज करते है या बॉडी किसी भी प्रकार के स्ट्रेस में होती है तो हमारी बॉडी में फ्री रेडिकल अटैक होते है|  विटामिन और मिनरल एक्सरसाइज या स्ट्रेस से होने वाले इन फ्री रेडिकल से बचाते (प्रोटेक्ट) करते है| एंटीऑक्सीडेंट के उदाहरण विटामिन सी, विटामिन ई, सेलेनियम आदि है|

·        एनर्जी मेटाबोलिज्म

बी-काम्प्लेक्स विटामिन एनर्जी बनाने में मदद करते है|

·        हीमोग्लोबिन बनाना 

आयरन, विटामिन-बी12, फोलिक एसिड ये हीमोग्लोबिन बनाने के मदद करते है|

·        हड्डियों की मजबूती के लिए

कैल्शियम, फॉस्फोरस, विटामिन-डी, आदि हड्डियों की मजबूती के लिए आवश्यक है|

·        मसल्स संकुचन (contraction)

मसल्स contraction के लिए हमें कैल्शियम की जरुरत पढ़ती है|

ऐसे और भी बहुत सारे कार्यो के लिए हमें माइक्रोपोषक तत्व की जरुरत पड़ती है|

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो शेयर जरुर करे और नीचे कमेंट करे|

 

MICRONUTRIENT

In the previous article, I told you about the macronutrient and in this article I will tell you about the micronutrient.

In this article, I will tell you what are the micronutrients, what are the types, what do they work in our body.

Micronutrients- Micronutrients are those nutrients that do not give us energy and which we need to take in small amounts (less than 10 grams). We need to take them in milligrams and micrograms. They do not give us energy but they are very important for our body because without them macronutrients (carbohydrates, proteins, fat) are not able to function properly. We also get this from food and also as supplements. They should be taken from food as much as possible.

How many micronutrients are there?

There are two micronutrients.

1) Vitamins

2) Minerals

Read this too:- What to eat before exercise

We get these from all types of food, but they are more in fruits and vegetables.

Vitamins and its type

There are two types of vitamins

1) Water-soluble vitamin

2) Fat-soluble vitamins

Water-Soluble Vitamins - These types of vitamins are soluble in water. Vitamin C and vitamin B-complex are water-soluble vitamins.

They are not stored in the body because they go out of the body through urine. If they are not taken daily, then there may be a deficiency in the body, so we have to take them from the daily diet.

Fat-soluble vitamins - These types of vitamins are soluble in fat.

Vitamins A, D, E, K, are fat-soluble vitamins.  They can be stored in the body, so if we do not take them in the diet occasionally, then there is no risk of deficiency in the body. But if you do not take them in the diet for a long time, then there may be a deficiency of them.

If they are taken in excess, then there is a risk of toxicity. So take them only in the right quantity.

Mineral and its types

Minerals are divided into two types

Major Minerals and Trace Minerals

Major Minerals - The body requires them in large quantities (grams) but less than 10 grams. Calcium, chloride, magnesium, phosphorus, potassium, and sodium are the major minerals.

 

Trace mineral - the body requires them in small amounts (milligrams and micrograms). Iron, zinc, selenium, chromium, iodine, fluoride, copper, etc. are trace minerals.

What to eat after exercise

Functions of Vitamins and minerals  

• Antioxidants

When we exercise or the body is in any type of stress, free radical attacks occur in our body, then vitamins and minerals protect us from these free radicals caused by exercise or stress. Examples of antioxidants are vitamin C, vitamin E, selenium, etc.

• Energy metabolism

B-complex vitamins help in making energy.

• making hemoglobin

Iron, vitamin B12, folic acid help to make hemoglobin.

• to strengthen bones

Calcium, phosphorus, vitamin D, etc. are essential for the strengthening of bones.

• Muscle contraction                 

We need calcium for muscle contraction.

We need micronutrients for many other such works.

If you like this information, then do share and comment below.

 

MICRONUTRIENT क्या होते है

  MICRONUTRIENT (माइक्रोपोषक तत्व) ( माइक्रोपोषक तत्व क्या होते है?  ) पिछले आर्टिकल में   मैंने आपको मैंने मैक्रोपोषक तत्व के बारे में...

 

BEARDOOFITNESS © 2015 - Blogger Templates Designed by Templateism.com, Plugins By MyBloggerLab.com