Friday, October 30, 2020

 

शहद और लहसुन के फायदे | शहद और लहसुन खाने के फायदे

नमस्कार दोस्तों

आजकल बरसात के मौसम में सर्दी और झुकाम और गले में इन्फेक्शन होने का रिस्क बढ़ गया है ऐसे में कुछ बांतो का ध्यान रखा जाये तो इन समस्याओ के होने के जोखिम को कम किया जा सकता है| ऐसे में आपको लहसुन और शहद काफी मदद कर सकते है|  

शहद और लहसुन के फायदे | honey or Leshun khane ke fayde

लहसुन और शहद दोनों ही खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है और बरसात में होने वाली समस्याएं सर्दी जुखाम इंफेक्शन आदि के होने का रिस्क  कम हो जाता है
शहद और लहसुन के फायदे | honey or Leshun khane ke fayde

तो आज हम जानेंगे कि लहसुन और शहद खाने से हमें क्या-क्या फायदे मिलते हैं|

लहसुन और शहद खाने के फायदे

हमारी इम्यूनिटी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है|

अगर आपकी इम्युनिटी कमजोर है तो आप कई बीमारियों का शिकार हो सकते हो| लहसन और शहद इन दोनों में ही इम्युनिटी को बढ़ाने वाले गुण होते है| इन दोनों ही के सेवन करने से हमारे शरीर की रोगों और वायरस से लड़ने की शमता बढ़ जाती है| हमारी रोग प्रतिरोधक शमता बढती है| 

इन्फेक्शन होने का खतरा कम होता है|

शहद और लहसुन के फायदे | honey or Leshun khane ke fayde

लहसुन और शहद इन दोनों ही एंटी बेक्टिरिअल और एंटी फंगल के गुण पाते जाते है, जिनके कारण ये हमारे शरीर को बेक्टेरिया से बचाते है, इसलिए शहद और लहसुन दोनों का सेवन करने से हमारे शरीर को इन्फेक्शन होने का खतरा कम हो जाता है|

हल्दी के इन फायदों को जानकर हैरान हो जाओगे 

बार बार सर्दी जुखाम होने से बचाते है|

लहसुन और शहद इन दोनों का उपयोग करने से हमारा इम्यून सिस्टम मज़बूत बनता है, जिससे हमें बार बार सर्दी और जुखाम होने का खतरा भी कम हो जाता है| और यह हमें बार बार होने वाली सर्दी जुखाम से बचाते है|

कोलेस्ट्रोल को कम करता है|

शहद और लहसुन के फायदे | honey or Leshun khane ke fayde

लह्सुन और शहद दोनों ही इम्युनिटी बढ़ाने और इन्फेक्शन को कम करने के साथ साथ शरीर में जमा bad कोलेस्ट्रोल को भी करने में मदद करता है| लहसुन और शहद ये दोनों शरीर के ट्राईग्लिसराइड को भी कम करने में हेल्प करते है|

बुढ़ापे की speed (ageing) को कम करता है|

जी हा शहद और लहसुन इन दोनों को खाने से शरीर की ageing प्रोसेस की speed कम हो जाती है| लहसुन और शहद इन दोनों ही में पाये जाते है, एंटी ऑक्सीडेंट जो कि हमारे शरीर में होने वाले फ्री रेडिकल अटैक से हमें बचाते है| अगर बॉडी में फ्री रेडिकल अटैक ज्यादा हो तो हमारा शरीर जल्दी बुढा होने लगता है|

ऐसे करे मोटापे को दूर 

इन्फ्लामेशन को कम करते है|

शरीर होने  वाली इन्फ्लामेशन लहसुन और शहद से कम हो सकती है| क्योकि लहसुन में एंटी इम्फ्ल्लामेंट्री के गुण पाये जाते है| ओमेगा 3 फैटी एसिड (जो कि हमें फिश, नट्स और अलसी  में भी एंटी इम्फ्ल्लामेंट्री के गुण पाये जाते है|

 शरीर के मेटाबोलिज्म को बढ़ाते है|

शहद और लहसुन के फायदे | honey or Leshun khane ke fayde


ऐसा माना जाता है कि लहसुन और शहद को दोनों को मिक्स करके खाने से शरीर में गर्मी बढ़ जाता है और मेटाबोलिज्म भी बढ़ता है| अगर वाकई में ऐसा होता है, तो वजन, शरीर में जमा एक्स्ट्रा फैट और मोटापा कम करने के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है| 

इस प्रकार से लहसुन और शहद खाने से ये सभी फायदे मिलते है लेकिन किसी भी चीज कम ज्यादा इस्तेमाल करना हानिकारक हो सकता है|

हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|

अस्वीकरण – यह लेख और आर्टिकल केवल सामान्य जानकारी के लिए लिखा गया है| यह किसी भी प्रकार की दवा या इलाज का विकल्प नही है और न ही हो सकता है| ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर या किसी स्पेस्लिस्ट  से सलाह ले| लेखक, इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नही लेता है|

धन्यवाद

और भी पढ़े 

वार्मअप क्यों जरुरी है 

क्यों जरुरी है पानी पीना 

 

 

शहद और लहसुन के फायदे | honey or Leshun khane ke fayde

  शहद और लहसुन के फायदे |  शहद और लहसुन खाने के फायदे नमस्कार दोस्तों आजकल बरसात के मौसम में सर्दी और झुकाम और गले में इन्फेक्शन होने का...

Sunday, October 25, 2020

Importance of warm-up

आप सभी को  पता होगा की एक्सरसाइज शरीर के लिए कितना जरुरी है| एक्सरसाइज से हम न सिर्फ फिट रहते है, बल्कि हमारे शरीर की स्फूर्ति भी बनी रहती है| एक्सरसाइज आपके डेली रूटीन का हिस्सा होना चाहिए|  इससे आप फिट तो रहेंगे ही साथ ही आपको  कई और भी पॉजिटिव इफेक्ट देखने को मिलेंगे, लेकिन तब जब आप इसे सही तरीके से करेंगे|

इंपॉर्टेंस ऑफ वार्म अप | importance of warm up


आप चाहे जिम जाये या घर पर एक्सरसाइज करे या फिर किसी भी तरह की एक्सरसाइज करे उससे पहले यह जरुरी है की आप वार्मअप कर ले|

एक्सरसाइज से पहले वार्मअप बहुत जरुरी है अगर आप वार्मअप नही करते है तो आपके शरीर को एक्सरसाइज से नुक्सान हो सकता है|

बेक मसल्स की बेस्ट एक्सरसाइज

तो इस आर्टिकल में, मै आपको बताने वाला हूँ, की वार्मअप के महत्व के बारे|

वार्म अप क्यों जरूरी है और किन कारणों की वजह से करना चाहिए 

बॉडी का temperture बढ़ जाता है 

एक्सरसाइज से पहले वार्मअप करने से हमारे शरीर का तापमान बढ़ जाता है| शरीर का तापमान बढ़ने से ऑक्सीजन लेवल भी बढ़ जाता है जो एक्सरसाइज के लिए बहुत महत्व रखता है|

ब्लड का संचालन सही से होता है एक्सरसाइज के दौरान 

इंपॉर्टेंस ऑफ वार्म अप | importance of warm up


एक्सरसाइज से पहले वार्मअप करने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है| जिससे टारगेट मसल्स में इंजरी होने का खतरा कम होता है|

एक्सरसाइज से होने वाली चोट (इंजरी) का खतरा कम होता है 

वार्मअप करने से चोट (इंजरी) लगने का खतरा कम होता है| एक अध्ययन के मुताबिक वार्मअप से exercise से होने वाली चोटों (इंजरी) को 75% तक कम किया जा सकता है|

चार मिनट में करे बेली फैट को कम 

वार्म-अप करने से बॉडी दिमागी रूप से तैयार हो जाती है

एक्सरसाइज से पहले वार्मअप करने से हमारी बॉडी एक्सरसाइज के लिए  मेन्टली (दिमाग से) भी तैयार हो जाती है|  वार्मअप हमारे शरीर और दिमाग के बीच बेहतर समन्वय स्थापित करने का महत्वपूर्ण कार्य करता है| इस तरह एक्सरसाइज से शरीर के साथ साथ दिमाग भी फिट रहता है| 

एनर्जी लेवल बढ़ जाते है 

इंपॉर्टेंस ऑफ वार्म अप | importance of warm up


वार्मअप करने से हमारे शरीर में एनर्जी लेवल भी बढ़ जाए है जिससे एक्सरसाइज अच्छे से होती है|  वार्मअप खासकर खिलाडियों को बहुत लाभ देता है|  

बॉडी में लेक्टिक एसिड लेवल कम हो जाते है 

एक्सरसाइज से पहले वार्मअप करने से शरीर में लेक्टिक एसिड लेवल की मात्रा कम होती है| और जिससे मसल्स जल्दी से थकते नही है| 

एक्सरसाइज से पहले वार्मअप करने से स्ट्रेस लेवल भी कम होता है|

इन एक्सरसाइज से वजन कम 

एक्सरसाइज से  पहले कौनसे प्रकार के वार्मअप करे?   

एक्सरसाइज से पहले दो प्रकार के वार्मअप जरुर करे| एक है बेसिक वार्मअप और दूसरा है स्पेसिफिक वार्मअप|

बेसिक वार्मअप  

बेसिक वार्मअप एक्सरसाइज रूटीन से सबसे पहले किया जाता है\ इसमें शरीर के सभी मसल्स और मूवेबल जॉइंट का वार्मअप किया जाता है| बेसिक वार्मअप करना बहुत आसान है| बेसिक वार्मअप आपके आलस को पल भर में भगा देगा|  इसमें आप गर्दन (नैक) रोटेशन, शोल्डर रोटेशन , कोहनी (एल्बो) फ्लेक्शन  और एक्सटेंशन,  कलाई रोटेशन, हिप रोटेशन, नी सर्कल, और जम्पिंग आदि कर सकते है|  

स्पेसिफिक वार्मअप 

स्पेसिफिक वार्मअप शरीर के किसी विशेष हिस्से के लिए किया जाता है | मान लो की आप लोअर बॉडी (लेग) का वर्कआउट कर रहे है तो बेसिक वार्मअप करने के बाद लोअर बॉडी की कुछ एक्सरसाइज बहुत की कम इंटेंसिटी से करेंगे| यह होता है स्पेसिफिक वार्मअप|

तो किसी भी एक्सरसाइज रूटीन या वर्कआउट करने से पहले बेसिक वार्मअप और स्पेसिफिक वार्मअप दोनों अवश्य करे|


हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|   

इंपॉर्टेंस ऑफ वार्म अप | importance of warm up

Importance of warm-up आप सभी को   पता होगा की एक्सरसाइज शरीर के लिए कितना जरुरी है| एक्सरसाइज से हम न सिर्फ फिट रहते है, बल्कि हमारे शरीर ...

Tuesday, October 20, 2020

 



रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे

lehsun khane ke fayde

नमस्कार दोस्तों

शीर्षक (title) को पढ़कर आप समझ ही गये होंगे की आज हम लहसुन के फायदे के बारे में बात करने वाले है| लहसुन का भारत की हर घर की रसोई में उपयोग किया जाता है| शायद ही ऐसा कोई होगा जिसके किचन में लहसुन का यूज़ नही किया जाता हो|

रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे

लहसुन का उपयोग अक्सर किचन में मसाले की तौर पर खाने का टेस्ट बढ़ाने के लिए किया जाता है| लेकिन टेस्ट के अलावा इसके कई और भी फायदे है|

किस तरह कर सकते है लहसुन का उपयोग

आमतौर पर लहसुन का उपयोग सब्जी बनाने में किया जाता है| लेकिन इसका उपयोग चटनी, और इसका आचार भी बना सकते है|

तो आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे कि लहसुन से हमारे शरीर को क्या क्या फायदे मिलते है| 

लहसुन खाने के फायदे 

लहसुन खाने से हमारे शरीर को कई प्रकार के फायदे मिलते है, जो इस प्रकार है|

लहसुन को खाने से टेस्टोस्टेरोन बढ़ता है

यदि आपके शरीर में testosterone होर्मोन की कमी है और आप शारीरिक कमजोरी से परेशान है तो आप भी लहसुन खा सकते है| लहसुन खाने से आपके  शरीर में टेस्टोंस्टेरोन होर्मोन के लेवल बढ़ सकते है| और एनर्जी लेवल भी बढ़ सकते है|

लहसुन हार्ट के लिए है फायदेमंद

लहसुन हमारे दिल (हार्ट) के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है| यह रक्त की धमनियों में जमे कोलेस्ट्रोल को कम करता है जिससे हार्ट की समस्या होने की संभावना कम  होती है|

रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे


ऐसा माना जाता है रोज लहसुन खाने वाले व्यक्ति को हार्ट अटैक नही आता है|

कोलेस्ट्रोल कम करने में मदद करता है

शरीर में बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रोल आपकी रक्त की धमनियों जम जाता है और धमनियों को ब्लाक कर सकता है | जिससे दिल तक सही से ब्लड नही पहुँच पाता है| ऐसा माना जाता है की लहसुन खाने से कोलेस्ट्रोल को कम किया जा सकता है| जिससे हार्ट अटैक आने के खतरे को कम किया जा सकता है|

ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करने में मदद करता है

लहसुन खाने से ब्लड प्रेशर की कण्ट्रोल में आ जाता है| जब कोलेस्ट्रोल कम हो जाता है तो शरीर में धमनियों में से खून का प्रवाह सही से होता है और धमनियों पर पड़ने वाला दबाव कम हो सकता है| इस प्रकार लहसुन खाने के कारण ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल होने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने का खतरा भी कम होता है

 लहसुन फैट को कम करने में मददगार

ऐसा माना जाता है की लहसुन खाने से हमारे शरीर का मेटाबोलिक रेट बढ़ जाता है| और जब मेटाबोलिक रेट बढ़ता है तो बॉडी में फैट बर्न भी बढ़ जाता है|

लहसुन एंटी बेक्टीरियल होता है

रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे


लहसुन में एंटी बेक्टीरियल और एंटी फ्लेमेट्री गुण पाते जाते है| जिससे यह कई सारे बेक्टरिया के अटैक से बचाते है क्योकि लहसुन खाने से हमारी रोग प्रतिरोधक शमता बढती है

लहसुन फ्री रेडिकल से बचाता है

फ्री रेडिकल से बचाते है क्योकि में पाये जाते है लहसुन में बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट जो हमारी बॉडी को स्ट्रेस से होने वाले फ्री रेडिकल अटैक से बचाते है| और शरीर की एजिंग

प्रोसेस को भी स्लो करते है|

इम्युनिटी बढती है

लहसुन इम्युनिटी बढ़ाने के लिए लाभकारक है क्योकि इसमें एंटी बेक्टेरिअल गुण पाये है तो लहसुन खाने से हमारी इम्युनिटी भी बढती है|

 तो इस प्रकार लहसुन के कई प्रकार के फायदे है| लहसुन को आयुर्वेद में औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता है

हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|

अस्वीकरण – यह लेख और आर्टिकल केवल सामान्य जानकारी के लिए लिखा गया है| यह किसी भी प्रकार की दवा या इलाज का विकल्प नही है और न ही हो सकता है| ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर या किसी स्पेस्लिस्ट  से सलाह ले| लेखक, इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नही लेता है|

धन्यवाद

 

 

रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे

  रात को लहसुन खाने के फायदे | लहसुन के फायदे lehsun khane ke fayde नमस्कार दोस्तों शीर्षक (title) को पढ़कर आप समझ ही गये होंगे की आज हम...

Friday, October 16, 2020

 

हल्दी के फायदे | कैसे करे उपयोग | haldi ke fayde | kaise kare upyog

नमस्कार दोस्तों

भारत में मसालों की विविधता की कमी नही है| भारत में मसाले भरपूर मात्रा में पाये जाते है और उनका उपयोग भी ज्यादा किया जाता है, जिसमे से एक हल्दी है| 

हल्दी का उपयोग किस के घर और किचन में नही होता होगा| हल्दी का उपयोग हर किसी के घर और किचन में उपयोग होता ही है| क्या आपको पता है कि हल्दी के कितने सारे फायदे है| और हल्दी का उपयोग कई प्रकार से कर सकते है|

haldi ke fayde


तो आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे की हल्दी के क्या और कितने सारे फायदे है और इसका उपयोग किस तरह करते है|

यह भी पढ़े - बेक को मज़बूत करे इन एक्सरसाइज के 

किस तरह हल्दी का उपयोग करते है|

बाज़ार में हल्दी दो रूप में मिलती है एक तो पाउडर के रूप में और दूसरी कच्ची हल्दी (सर्दियों में) के रूप में |

·        आमतौर पर किचन में हल्दी का उपयोग सब्जी में मसाले के रूप में किया जाता है

·        हल्दी का उपयोग दूध में डालकर भी किया जाता है| (रात  को हल्दी वाला दूध पिया जाता है)

·        हल्दी का उपयोग सुबह गर्म पानी के साथ में किया है( लोग सुबह हल्दी वाला गर्म पानी पीते है)

·        हल्दी की सब्जी के रूप में (सर्दियों में अक्सर कच्ची हल्दी की सब्जी बनाकर खायी जाती है|)

हमने यह तो समझ लिया की हल्दी का उपयोग किस प्रकार किया जाता है| अब बात करते है कि हल्दी के क्या फायदे है|

हल्दी खाने के फायदे

हल्दी खाने के बहुत सारे फायदे है जो इस प्रकार है|

पेट में होने वाली जलन को कम करती है

हल्दी पेट की समस्या के लिए बहुत ही गुणकारी है| हल्दी गैस्ट्रिक जूस की म्यूकिन सामग्री को बढ़ाने और पेट में जलन को कम करने में भी मदद करती है।

हल्दी सर्दी खांसी में भी फायदेमंद

हल्दी का उपयोग अक्सर गले में खराश, खांसी, सर्दी और पेट फूलने के खिलाफ भी किया जाता है। इस सभी में भी हल्दी बहुत फायदेमंद है| हल्‍दी में लिपोपोलीसैचिरिड होता है जो  हमारे इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत करता है जिससे फ्लू एवं सर्दी-जुकाम होने का  खतरा कम हो जाता है|

haldi ke fayde


हल्दी में एंटी कैंसर वाले गुण होते है|

पोषण संस्थान के राष्ट्रीय संस्थान (नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ न्यूट्रीशन india ) में किए गए अध्ययन से पता चलता है कि हल्दी एक शक्तिशाली एंटीकैंसर एजेंट हो सकती है|

यह भी पढ़े - ऐसे करे वजन कम 

हल्दी एंटी बेक्टिरियल होती है

हल्दी एंटी बेक्टिरियल होती है, यह  हमारे शरीर को बेक्टीरिया से बचाती है|

हल्दी में मौजूद करक्यूमिन का सक्रिय सिद्धांत बैक्टीरिया पर कार्रवाई और कवक के विकास को गिरफ्तार करने के लिए भी जाना जाता है|

हल्दी कोलेस्ट्रोल को कम करती है

एक स्टडी के अनुसार हल्दी और curcumin से कोलेस्ट्रोल भी कम होता है | हल्दी और curcumin कार्डियोवस्‍कुलर डिजीज और स्‍ट्रोक का कारण बनने वाले  बुरे कोलेस्‍ट्रोल के लेवल को भी कम करता है।

 हल्दी अल्झाइमर बीमारी  में असरदार होती है

2006 में की गयी एक स्टडी के अनुसार यह पाया गया है की हल्दी अल्झाइमर बीमारी से लड़ने के लिए एक असरदार हथियार साबित हो सकता है| अल्झाइमर बीमारी उम्र बढ़ने के साथ होने वाली बीमारी है जिसमे इन्सान समय के साथ भूलने लगता है|

आर्थराइटिस  में मददगार

हल्‍दी के एंटी बैक्‍टीरिया-रोधी गुण के कारण  से चोट को जल्‍दी भरने में मदद मिलती है।  साथ ही हल्दी एंटी इन्फ्लामेंट्री के गुण होते है जिससे शरीर में सुजन आने की सम्भावना कम होती है| एवं सूजन को जोड़ों के सेल्स को नुकसान पहुंचाने से रोकती है जिससे जोड़ों में दर्द और आर्थराइटिस जैसी समस्‍याओं से बचाव या राहत मिलती है|

इसके अलावा भी हल्दी के कई सारे फायदे है|

haldi ke fayde


हल्दी काफी अच्छे गुणों से भरपूर है परंतु कुछ लोगों पर इसके उल्टे प्रभाव पड़ सकते हैं।  इसलिए जिन लोगों को हल्दी से एलर्जी होती है उन्हें पेट में दर्द या डायरिया जैसे लक्षण सामने आ सकते हैं। गर्भवती महिलाओं को कच्ची हल्दी के उपयोग से पहले चिकित्सकीय परामर्श या सलाह ले लेनी चाहिए। जिन लोगो को हल्दी खाने से प्रॉब्लम होती वे या तो हल्दी का सेवन कम करे या सेवन करने से बचे|

अस्वीकरण – यह लेख और आर्टिकल केवल सामान्य जानकारी के लिए लिखा गया है| यह किसी भी प्रकार की दवा या इलाज का विकल्प नही है और न ही हो सकता है| ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर या किसी स्पेस्लिस्ट  से सलाह ले| लेखक, इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नही लेता है|

हेल्थ और फिटनेस से जुडी और जानकारी के लिए सब्सक्राइब जरुर करे| अगर यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर करे और दुसरो तक भी पहुचाये|

धन्यवाद

स्ट्रेचिंग के फायदे 

इम्पोर्टेंस ऑफ वाटर 


हल्दी के फायदे | कैसे करे उपयोग | haldi ke fayde | kaise kare upyog

  हल्दी के फायदे | कैसे करे उपयोग | haldi ke fayde | kaise kare upyog नमस्कार दोस्तों भारत में मसालों की विविधता की कमी नही है| भारत में...

Tuesday, October 13, 2020

 मज़बूत और हैवी लेग्ज के टॉप और बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज / Best 5 exercise for legs

(legs ko mazboot or sundur banaye in exercise se)

नमस्कार दोस्तों 

ज़िम जाने वाला हर व्यक्ति अपनी अपर बॉडी को तो टोन कर देता है लेकिन लोअर बॉडी को टोन और ट्रेन नही करता है, अगर करते भी है तो कम ट्रेन करता है| जिसके कारण बॉडी अच्छी नही दिखती है| अक्सर लोग यह गलती करते है|

लेग्ज के मसल्स शरीर के बड़े मसल्स होते है और बॉडी का बेस होते है, इन पर ही हमारी अपर बॉडी भी  टिकी हुई होती है, इसलिए लोअर बॉडी के मसल्स को ट्रेन करना जरुरी हो जाता है|

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज


तो आज में आपको बताने वाला हूँ, ऐसी टॉप और बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज के बारे में जिसको करके आ अपने लेग्ज को काफी मज़बूत बना सकते है

लेकिन सबसे पहले यह जान लेते है कि लेग्स में कौनसे मसल्स होते है उनके क्या नाम है?

लेग्ज के मसल्स

लेग्ज और लोअर बॉडी के मुख्य तीन सबसे बड़े मसल्स होते है

क्वाड्रिसेप्स (quadriceps)

इस  मसल्स ग्रुप में चार मसल्स होते है और जांध के सामने के ये चारो मसल्स पैर को सीधा करने ( knee extension) का काम करते है|

हेमस्ट्रिंग्स (hamstrings)

हेमस्ट्रिंग्स में भी चार मसल्स आते है और यह जांध के पिछली side में होते है यह हिपबॉन से शुरू होते है और टिबिया बॉन में जाकर जुड़ते है| इनका काम घुटने को मोड़ना और हिप को एक्सटेंड करना होता है|

काफ मसल्स

यह पैर के पिछले हिस्से में घुटने और एंकल के बीच में होता है| इसका मुख्य काम एन्क्ल में मूवमेंट करना है|

यह भी पढ़े - फैट बर्निंग वर्कआउट

बेस्ट 5 एक्सरसाइज लेग्ज के लिए

बारबेल स्क्वाट

लेग्ज को बेहतर और मज़बूत करने के इए बारबेल स्क्वाट बहुत ही बढ़िया विकल्प है| अच्छा लेग्ज का वर्कआउट बारबेल स्क्वाट से ही शुरू होता है| बहुत से लोग इसको बिना वेट्स के ही करते है लेकिन इसे वेट्स के साथ करने से और अच्छे रिजल्ट मिलते है

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज


कैसे करें :

इसके लिए आप अपने पैरों को एक साथ रखें और अपनी एड़ी को 25-पाउंड की प्लेटों पर रखें। इससे क्वाड्स के बाहरी स्वीप पर अधिक फोकस कर सकते हैं, जिससे आपको सही पोजिशन में आने में मदद मिलती है।  

यदि आप बार्बेल के साथ पहली बार ये एक्सरसाइज कर रहे हैं तो  पहले आप थोडा  वार्म-अप जरुर करें। पैर मसल्स को गर्म करने और ब्लड फ्लो को बढ़ाने  के लिए पहले सेट में हल्के वजन और हाई रेप्स करें। 

फिर आगे के वर्कआउट के लिए पीठ पर फोटो में दिखाए मुताबिक बार्बेल रखते हैं और फिर स्क्वॉट लगाते हैं। ध्यान रखें कि धीरे-धीरे अपनी क्षमता के मुताबिक वेट बढ़ाएं।

स्क्वाट बहुत ही बढ़िया एक्सरसाइज है | इसके बहुत सारे वेरिएशन भी है जैसे -   फ्रंट स्क्वाट, ओवरहेड स्क्वाट, सी सी स्क्वाट, हैक स्क्वाट, पिस्टल स्क्वाट, सूमो स्क्वाट, आदि| इस सभी  एक्सरसाइज में हमारे थाईज  के क्वाड्रिसेप्स मसल्स और ग्लुट्स (हिप) के मसल्स काम करते है|

लन्जेस

यह लेग्स के मसल्स  की स्ट्रेंथ बढ़ने के लिए और वजन कम करने के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज है| इसको सिंगल लेग स्क्वाट भी कहते है| इस एक्सरसाइज में हमारे लेग्स (थाईज ) और ग्लुट्स (हिप) के मसल्स काम करते है| 

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज


इसको भी आप बिना वेट्स और वेट्स के साथ कर सकते है, लेकिन वेट्स के साथ करने से अच्छे रिजल्ट मिलते है| अगर आप नए या बिगिनर है तो पहले बिना वेट्स के ही करे| इसमें इसमें आप डम्बल और बारबेल किसी का भी उपयोग कर सकते है|

कैसे करे

इस एक्सरसाइज को करने के लिय्व अपने हाथ में डम्बल या प्लेट्स को पकड़ कर सीधे खड़े हो जाये फिर अपने बांये पैर को एक कदम आगे लाकर आगे वाले पैर पर बैठ जाये (ध्यान रहे इसके दौरान आपकी पीठ सीधी रहे)  फिर ऊपर उठते हुए वापिस सीधे खड़े हो जाये| फिर  ऐसे ही दांये पैर से दोहराए|

इस एक्सरसाइज के कई सारे वेरिएशन भी है जैसे वाकिंग लन्जेस, फारवर्ड लन्जेस, रिवर्स लन्जेस, प्लायोमेट्रिक लन्जेस आदि|

आप चाहे तो वाकिंग लन्जेस भी कर सकते है, बस पैर को उतना ही आगे बढ़ाये और उसको उतना ही बेंड कारे की आपका पीछे वाला पैर का घुटना नीचे फ्लोर को टच हो सके|

लेग प्रेस

यह भी एक अच्छी एक्सरसाइज है लेग्स को मजबूत करने के लिए | यह भी क्वाड्रिसेप्स को ट्रेन करने के लिए है| इसको मशीन पर किया जाता  है|

कैसे करे

इस एक्सरसाइज को करने के लिए आपको सीट पर बैठना है और अपने पैरों को सामने लगे पैड (pad) पर रखना है  (पैरों को न ज्यादा पास रखें और न ज्यादा दूर) फिर उस प्लेट लोडेड पैड (pad) को अनलॉक करके ऊपर की तरफ धकेले|

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज


बस ध्यान रखें की इस एक्सरसाइज में ज्यादा वजन न ले अपनी क्षमता के मुताबिक ही वजन ले| अगर आप ज्यादा वजन लेते है तो जोखिम ज्यादा होती है क्योकि अगर वजन कण्ट्रोल नही हुआ तो आपके सारा ऊपर आ सकता है|

लेग कर्ल (leg – curl)

यह एक्सरसाइज हेमस्ट्रिंग्स के लिए है और इससे हेमस्ट्रिंग्स मजबूत बनती है| इस एक्सरसाइज को मशीन के द्वारा किया जाता है| इसके लिए अलग अलग प्रकार के मशीन आते है, जैसे बैठकर करने वाली और उल्टा लेटकर करने वाली मशीन |

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज

photo source - google / machine in  this is leg curl of life fitness.

कैसे करे

आजकल बैठकर लेग कर्ल करने वाली मशीन ज्यादा आती है इसलिए सीटेड लेग कर्ल को कैसे करते है इसके बारे में ही बताऊंगा

इस एक्सरसाइज को  करने के लिए भी आपको सीटेड लेग कर्ल मशीन की सीट पर बैठना है और फिर पैरों से वजन को हेमस्ट्रिंग्स या फिर अंदर की तरफ की खींचना है ताकि आपके हेमस्ट्रिंग्स मसल्स पर टेंशन बने हो। 

फिर धीरे-धीरे वजन को नीचे की ओर छोड़ना है। ध्यान रहे इसमें एक दम झटके से वजन को  ना उठाएं और ना ही नीचे ले जाये रखे, वरना आपके घुटने में चोट लग सकती है।

यह भी पढ़े - स्ट्रेचिंग के फायदे 

सीटेड लेग एक्सटेंशन

यह एक्सरसाइज भी लेग के मसल्स की टोनिग के लिए अच्छी है| लेग कर्ल और इसमें कुछ  ज्यादा अंतर नही है| यह एक आइसोलेशन मूवमेंट है|

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज

photo source - google / machine in  this is leg extension of life fitness.

कैसे करें :

इसे करने के लिए मशीन की सीट पर बैठें और फिर वजन को अपने पैरों की सहायता से ऊपर तक लेकर आएं। इससे आपके क्वाड्रिसेप्स पर ज्यादा टेंशन क्रिएट होगी। बस ध्यान रखें, कि घुटने को पूरी तरह लॉक नही करना है, नी को हल्का सा सॉफ्ट रखे| और आपकी स्पीड स्लो होना चाहिए न कि तेज। इस एक्सरसाइज में  भी आपको वजन धीरे-धीरे अपनी क्षमता के मुताबिक बढ़ाना है।

बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज

  मज़बूत और हैवी लेग्ज के टॉप और बेस्ट 5 लेग एक्सरसाइज / Best 5 exercise for legs (legs ko mazboot or sundur banaye in ex e rcise se ) नमस्...

 

BEARDOOFITNESS © 2015 - Blogger Templates Designed by Templateism.com, Plugins By MyBloggerLab.com